सावधान! देश में 32 लाख ATM हुए हैक, इसलिए बदलवाए गए थे पिन

21 मई से 11 जुलाई 2016 के बीच देश की बैंकिंग सिस्टम पर एक बड़ा मालवेयर अटैक हुआ था। जिसमें 32 लाख डेबिट कार्ड को हैक कर लिया गया था।

By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। आपको याद होगा कि पिछले कुछ महीने पहले आपसे अपने बैंक एटीएम का पिन कोड बदल ने को कहा गया था। बैंकों की ओर से एसएमएस भेजकर लोगों को अपने एटीएम का पिन बदलने को कहा गया था। कई एटीएम ब्लॉक कर दिए गए थे। ऐसा क्यों किया गया था, इसका खुलासा अब एक रिपोर्ट के जरिए किया गया है।

 3.2 million debit cards hacking in India: Hitachi owns up to security flaw

हिटैची पेमेंट सर्विस ने अपनी रिपोर्ट में इस बात खुलासा करते हुए कहा है कि पिछले साल भारत में 32 लाख एटीएम कार्ड हैक कर लिए गए थे। 21 मई से 11 जुलाई 2016 के बीच देश की बैंकिंग सिस्टम पर एक बड़ा मालवेयर अटैक हुआ था। जिसमें 32 लाख डेबिट कार्ड को हैक कर लिया गया था। इसी कारण कंपनी ने संबंधित बैंकों से अपने अपने ग्राहकों से फौरन कार्ड का पिन बदलवाने का आग्रह भी किया था। इसके लिए कंपनी ने माफी भी मांगी है।

नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (एनपीसीएल) के अनुमान के मुताबिक इस साइबर अटैक के कारण 600 ग्राहकों ने अपने साथ 1.3 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी की शिकायत भी दर्ज करवाई थी। लोगों को नुकसान के साथ-साथ सर्विस बाधित हुई। जापानी कंपनी हिटैची ने इस बारे में अपनी रिपोर्ट में कहा है कि पिछले साल उनके सिस्टम पर वायरस अटैक हुआ था। रिपोर्ट के मुताबिक इस मालवेयर का पहला अटैक यस बैंक के एक एटीएम के जरिये हुआ था। आपको बता दें कि यस बैंक हिटैची की सबसे बड़े ग्राहकों में से है।

कंपनी के मुताबिक साइबर चोर ने न सिर्फ एक वायरस कोड हिटैची पेमेंट सर्विसेज के सिस्टम में डाल दिया बल्कि इसके पैटर्न को भी परमानेंट डिलीट कर दिया। अपनी गलती मानते हुए हिटैची ने कहा है कि वो इस मालवेयर अटैक करने वाले को पकड़ नहीं पाए। इसके लिए कंपनी की ओर से लोगों से माफी मांगी गई है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Hitachi Payments Services accepted its systems were compromised by a sophisticated malware in mid-2016.
Please Wait while comments are loading...