चल गया पता, किन देशों से हैक किए 32 लाख एटीएम कार्ड

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (एनपीसीआई) ने इस बात की पुष्टि कर दी है कि 32 लाख डेबिट कार्ड्स को दूसरी जगहों पर इस्तेमाल किया गया है। एनपीसीआई को इस बारे में तब पता चला जब कुछ बैंकों ने उससे शिकायत की कि उनके कुछ ग्राहकों के डेबिट कार्ड को चीन और अमेरिका में इस्तेमाल किया गया है, जबकि उसका मालिक भारत में रहता है।

atm

आपका एटीएम कार्ड भी है खतरे में, ये हैं बचने के 10 टिप्स

एनपीसीआई के अनुसार 641 ग्राहकों की तरफ से फ्रॉड ट्रांसजैक्शन की करीब 1.3 करोड़ शिकायतें आईं। ये 641 ग्राहक देश के 19 बैंकों के हैं। इस मामले में एनपीसीआई और वित्त मंत्रालय ने बैंक ग्राहकों को इस बात का भरोसा दिलाया है कि इससे निपटने के लिए जरूरी कदम उठा लिए गए हैं और उन्हें परेशान होने की कोई जरूरत नहीं है।

प्रस्तावित GST रेट हुआ लागू, तो जानिए क्या होगा सस्ता-महंगा

फाइनेंशियल सर्विसेज के विभाग के अतिरिक्त सचिव जीसी मुर्मु ने पीटीआई को बताया कि सिर्फ 0.5 प्रतिशत बैंक ग्राहकों के डेबिट कार्ड की जाकारियां ही खतरे में पड़ी हैं, जबकि बाकी 99.5 फीसदी बैंक ग्राहक पूरी तरह से सुरक्षित हैं। जुलाई के अंत तक रिजर्व बैंक के आंकड़ों के अनुसार भारत में 69.72 करोड़ डेबिट कार्ड हैं।

32 लाख एटीएम कार्ड खतरे में, जानिए कौन और कैसे चुरा रहा आपके कार्ड की जानकारी

भारतीय स्टेट बैंक ने हाल ही में 6.25 लाख डेबिट कार्ड ब्लॉक किए हैं और इनके बदले नए डेबिट कार्ड जारी किए जाने हैं। इतना ही नहीं, स्टेट बैंक अपने ग्राहकों को इन कार्ड की वजह से हुए नुकसान का मुआवजा भी देगा। मुआवजे की कुल राशि 10 लाख से 12 लाख तक हो सकती है।

बीएसएनल, वोडाफोन और आइडिया के लिए 7 धांसू प्लान, जानिए क्या है खास

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
3.2 million atm cards were used in china and usa
Please Wait while comments are loading...