इंग्लिश की वजह से चीन में संघर्ष कर रहे हैं अमेरिका के दो पांडा

चीनी भाषा और खाने की वजह से चीन में संघर्ष कर रहे हैं अमेरिका के दो पांडा।

By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। अमेरिका में जन्मे दो पांडा चीन में संघर्ष कर रहे हैं। चीन में इन दोनों पांडा को भाषा की वजह से बड़ी परेशानी हो रही है। दरअसल इन दोनों को सिर्फ अंग्रेजी आती है, लेकिन चीन में चीनी भाषा के साथ और वहां के खाने से साथ सामंजस्य बिठाने में समस्या आ रही है।

panda

दोनों जुड़वां पांडा का जन्म अमेरिका में हुआ है और अटलांटा चिडिय़ाघर से 5 नवम्बर को विशालकाय पांडा के प्रजनन के लिए बने चीन के चेंगदू रिसर्च बेस लाया गया है। दोनों की मां लुन लुन ने इसी सितम्बर में फिर से बच्चों को जन्म दिया है। लेकिन दोनों को चीन में रहने में काफी असुविधाएं हो रही हैं।

3 साल का मिलुन और मेहुआन को चीनी भाषा विशेष रूप से सिचुआन बोली को लेकर भारी परेशानी हो रही है। केवल अंग्रेजी समझने वाले ये दोनों पांडा इस महीने के शुरूआत में ही चीन पहुंचे है। इन्हें धीरे-धीरे चीन के मौसम और जीवनशैली के हिसाब से अभ्यस्त किा जा रहा है। लेकिन चीनी भोजन और भाषा को समझने में इन्हें काफी तकलीफ हो रही है।

पीपुल्स डेली के मुताबिक अमेरिका से आए दोनों पांडा अभी तक अपनी पुरानी आदतें नहीं छोड़ पाएं हैं। वे चीन के ब्रेड की जगह अभी भी अमेरिकी क्रैकर्स पसंद करते हैं। उन्हें अपने ट्रेनर की बातें भी समझने में कठिनाई हो रही है। चीनी के मुकाबले वो अंग्रेजी पर अधिक प्रतिक्रिया दे रहे हैं। ऐसे में रिसर्च बेस के अधिकारी उन्हें यहां के माहौल में ढ़ालने के लिए काफी मेहनत कर रहे हैं। दोनों को अधिक वक्त दिया जा रहा है। उन्हें चीनी खाने का स्वाद चखाया जा रहा है। वहीं उनके साथ अधिक से अधिक चीनी भाषा में बात की जा रही है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Sisters Meilun and Meihuan still prefer American crackers to Chinese bread and Chinese is Latin to them.They struggle in China as they know only English.
Please Wait while comments are loading...