OMG ! वाराणसी में 6 साल का बच्चा निकला प्रेग्नेंट, डॉक्टर व परिजन हैरान

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। मेडिकल साइंस एक बहुत ही रेयर मामला वाराणसी में सामने आया है। यहां एक 6 वर्षीय मासूम के पेट में अविकसित भ्रूण पाया गया। इसे आॅपरेशन के जरिए एक प्राइवेट हॉस्पिटल में डॉक्टरों ने बाहर निकाला। डॉक्टर इस भ्रूण को देखकर खुद भी हैरान रह गए।

OMG ! वाराणसी में 6 साल का बच्चा निकला प्रेग्नेंट, डॉक्टर व परिजन हैरान

बाहुबली भैंसा : 1500 किलो वज़न, 11 लाख कीमत और तगड़ी है डाइट, लोग ले रहे हैं सेल्फी

5 ​लाख में एक बच्चा होता है ऐसा

झारखंड के गढ़वा निवासी इस मासूम का नाम रितेश है। डॉक्टरों की मानें तो ऐसा 5 लाख में से किसी एक बच्चे के साथ ही होता है। रितेश को पेट में दर्द की शिकायत हुई तो उसे अस्पताल लाया गया।

दो घंटे में हुआ आॅपरेशन

डॉक्टरों ने कहा कि पेट में गांठ हो सकती है इसलिए इसका आॅपरेशन करना पड़ेगा। लेकिन आॅपरेशन के बाद पता चला कि पेट में कोई गांठ नहीं बल्कि एक अविकसित भ्रूण था। इस आॅपरेशन में तकरीबन दो घंटे लगे।

उरी अटैक : एक शहीद के मां-बाप, भाई और दोस्त की मार्मिक दास्तां, जिसे पढ़कर रो पड़ेंगे आप

जानिए क्या कहता है विज्ञान

हालांकि, जानकार मानते हैं कि मेडिकल साइंस में इस तरह की चीजें होना संभव है। इसे ट्यूटो थ्योरी कहते हैं और इसमें दो बच्चे एक साथ मां के गर्भ में होते हैं जबकि विकास के केवल एक का ही होता है। दूसरा अविकसित भ्रूण विकसित बच्चे के पेट में चला जाता है और धीरे-धीरे विकसित होता रहता है। बताया जाता है कि भारत में यह इस तरह का 10वां मामला है।

परिजन खुद रह गए हैरान

6 साल के बच्चे के पेट से भ्रूण निकलता देखकर परिजन भी हैरान रह गए। जब डॉक्टर्स ने उन्हें इसके बारे में बताया तो उन्हें पहले यकीन ही नहीं हुआ।

कावेरी विवाद : इस दुल्हन को शादी से एक दिन पहले उठानी पड़ीं कई मुसीबतें

बिगड़ गया था खानपान

बच्चे के पिता की मानें तो बीते चार महीने से यह मासूम सही से खाता-पीता नहीं था। इसी वजह से वह कमजोर होता चला गया। उन्होंने पहले बीएचयू में इलाज कराया लेकिन वहां से संतुष्ट नहीं होने के बाद एक निजी अस्पताल में उसका इलाज कराया गया।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
varanasi : 6 years old jharkhand boy found pregnant. medical science says it is rarest of the rare case.
Please Wait while comments are loading...