बिना सिर और आंख के जन्मीं बच्ची, मां-बाप से छोड़ा तो बौद्धभिक्षु ने दिया साथ

8 महीने की इस बच्ची का न तो सिर है और ना ही आंख। बच्ची के चेहरे पर मुंह तक नहीं। वो ना तो खा पाती है और ना ही पी दुध पी पाती है।थाईलैंड के बौद्धभिक्षुओं ने उसे अपनाया है।

By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। कई बार आप खबर सुनते होंगे कि बच्ची ने बिना आंख, बिना हाथ के जन्म लिया। कई बार ये भी खबर सामने आती है कि दो बच्चे आप में जुड़े हुए पैदा हुए, लेकिन इस बार जो खबर हम आपको बताने जा रहे हैं वो बेहद चौंकाने वाली है। थाईलैंड में एक बच्ची ऐसी पैदा हुई, जिसके ना तो सिर है ना आंखें। चेहरे पर मुंह भी ठीक से दिखाई नहीं पड़ रही है। बच्ची का चेहरा इतना बिगड़ा है कि उसे नली के माध्यम से खाना खिलाया जाता है। पिता ने की अपनी ही 6 साल की बेटी से शादी, वजह जानकर हैरान रह जाएंगे आप?

OMG! baby girl born blind and without a skull

थाईलैंड के सायाबरी में नुराफिया जब जन्मी तो मां-बाप हैरान रह गए। घर में पहले से 4 बच्चे थे। ऐसे में इस दुर्लभ बच्ची का इलाज करा पाना गरीब मां-बाप के बस में नहीं था। नुराफिया के पिता मजदूर है। बच्ची के लगातार कई ऑपरेशन और इलाज की जरुरत है, जिसे वो पूरा नहीं कर पा रहे थे, इसलिए उन्होंने नुराफिया को बौद्धभिक्षुओं के आश्रम में छोड़ दिया।

शादी में दुल्हन का धमाकेदार डांस,1 करोड़ लोगों ने देखा video

इस अजीब चेहरे और बिना आंख औरक सिर वाली बच्ची को देखकर सब हैरान रह गए। लोग उसे देखकर डरने लगते हैं। लेकिन बौद्ध मौंक ने उसकी जिम्मेदारी उठाई। उसका पालन-पोषण किया। सोशल मीडिया पर बच्ची के इलाज के लिए लोगों से मदद मांगी। लोगों ने भी बच्ची की मदद के लिए हाथ आगे बढ़ाया और फंड के जमा करा।अब ये बौद्धभिक्षु उसका इलाज करवा रहे हैं। उसकी देखभाल कर रहे हैं। बच्ची 8 महीने की हो चुकी है और उसमें धीरे-धीरे सुधार हो रहा है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
A baby who was born blind and without a skull is being cared for by a kindly Buddhist monk over Christmas.
Please Wait while comments are loading...