सुप्रीम कोर्ट का बाहुबली नेता शहाबुद्दीन को सीवान से तिहाड़ जेल शिफ्ट करने का आदेश

राजदेव रंजन की पत्नी आशा रंजन के मुताबिक अगर शहाबुद्दीन बिहार की सीवान जेल में रहेंगे तो मामले की निष्पक्ष जांच संभव नहीं होगी। उन्ही की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने ये फैसला सुनाया।

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने आरजेडी के पूर्व सांसद और बाहुबली नेता मोहम्मद शहाबुद्दीन को बिहार की सीवान जेल से दिल्ली की तिहाड़ जेल में शिफ्ट करने का आदेश दिया है। हत्या के मामले में सीवान जेल में बंद मोहम्मद शहाबुद्दीन को एक हफ्ते के अंदर दिल्ली की तिहाड़ जेल में शिफ्ट करने का आदेश सुप्रीम कोर्ट ने दिया है। इसके साथ ही सर्वोच्च अदालत ने ट्रायल वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कराने का आदेश दिया है। कोर्ट ने ये भी कहा कि सीवान जेल से दिल्ली की तिहाड़ जेल शिफ्ट करने के दौरान कोई स्पेशल ट्रीटमेंट नहीं दिया जाना चाहिए।

एक हफ्ते में शहाबुद्दीन को तिहाड़ जेल शिफ्ट करने का आदेश

कोर्ट ने ये फैसला पत्रकार राजदेव रंजन की पत्नी आशा रंजन की याचिका पर सुनवाई के दौरान सुनाया। आशा रंजन ने अपनी अपील याचिका में गुहार लगाई थी कि पति की हत्या के मामले स्वतंत्र और निष्पक्ष जांच के लिए शहाबुद्दीन को दिल्ली की तिहाड़ जेल ट्रांसफर किया जाए।

पत्रकार राजदेव रंजन की पत्नी ने दायर की थी याचिका

आशा रंजन के मुताबिक अगर शहाबुद्दीन बिहार की सीवान जेल में रहेंगे तो मामले की निष्पक्ष जांच संभव नहीं होगी। शहाबुद्दीन पर करीब 45 आपराधिक मामले दर्ज हैं। इसमें एक अलग याचिका चंद्रशेखर प्रसाद की भी है, जिनके तीन बेटों की हत्या में भी आरजेडी नेता का हाथ बताया जा रहा है। बिहार सरकार ने इस मामले की सीबीआई जांच के लिए अनुशंसा की है।

बिहार की सीवान जेल में बंद हैं शहाबुद्दीन

ये मामला उस समय तूल पकड़ लिया था जब हत्या के आरोपी मोहम्मद कैफ की तस्वीरें मोहम्मद शहाबुद्दीन के साथ नजर आई थी। ये मामला उस समय का है जब शहाबुद्दीन जेल से रिहा हुए थे। इसके बाद मोहम्मद कैफ की ओर से सफाई पेश की गई। बताया गया कि राजदेव की हत्या में उसका कोई रोल नहीं था, उस पर लगाए गए सभी आरोप बेबुनियाद हैं।

हाल ही में सीवान जेल से सामने आई थी शहाबुद्दीन की सेल्फी

शहाबुद्दीन हाल ही में उस समय चर्चा में आए थे जब जेल में बंद होने के दौरान उनकी एक सेल्फी सामने आई थी। जिसमें मुफस्सिल थाने में एक एफआईआर भी दर्ज की गई थी। शहाबुद्दीन इस सेल्फी में बिल्कुल अलग लुक में नजर आ रहे थे। इस सेल्फी में उन्होंने ओवरकोट पहन रखा था। सीवान जिला प्रशासन ने तस्वीर वायरल होने की सूचना मिलने पर जेल में छापेमारी की।

शहाबुद्दीन पर करीब 45 आपराधिक मामले दर्ज हैं

इस घटना के बाद सीवान जेल में छापेमारी हुई। इसमें तीन मोबाइल, चार सिम कार्ड और दो मोबाइल बैट्री जब्त की गई। वैसे कहा जाता रहा है कि शहाबुद्दीन का सीवान जेल में राज चलता है। वह जेल के अंदर जिस ठाठ से रहते हैं उससे उसके असर का अंदाजा लगाया जा सकता है। फिलहाल उन्हें दिल्ली के तिहाड़ जेल भेजने का सर्वोच्च अदालत ने आदेश दिया है।

इसे भी पढ़ें:- जेल से फोटो वायरल होने के बाद नए लुक में दिखे शहाबुद्दीन, केस में मिली राहत

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Supreme Court orders to shift Mohammad Shahabuddin from Siwan bihar to Tihar Jail, Delhi.
Please Wait while comments are loading...