खामोशी देख लूट ली अस्मत, सरकारी नारी निकेतन के टॉयलेट में हैवानियत

Subscribe to Oneindia Hindi

पटना। सरकार की कड़ी पहरेदारी मे चलने वाली महिला सुधार गृह (रिमांड होम) में इंसानियत को शर्मसार करने वाला मामला सामने आया है। असहाय और विक्षिप्त महिलाओं की मदद के लिए बनाए गए सरकारी निशांत गृह में एक हवसी ने 18 वर्षीय एक गूंगी किशोरी के साथ शौचालय में दुष्कर्म किया। इस रिमांड होम की सुरक्षा-व्यवस्था अब सवालों के घेरे में है।

Read Also: पार्क में ही अपने नाबालिग छात्र के महिला टीचर ने बना लिए संबंध, कोर्ट ने दी सजा

खामोशी देख लूट ली अस्मत, सरकारी रिमांड होम के टॉयलेट में हैवानियत

मिली जानकारी के अनुसार पटना के आलमगंज थाना क्षेत्र मे स्थित निशांत गृह में टाइल्स लगाने का काम कर रहे एक युवक मोहन ने 18 वर्षीय गूंगी लड़की राधा (काल्पनिक नाम) को अपने हवस का शिकार बनाया। दुष्कर्म के बाद मोहन अपने काम पर लौट गया वही राधा अपने साथ हुए इस अत्याचार के कारण वही बैठी रो रही थी। जब वहां की अन्य महिलाओं ने राधा को इस हाल में देखा तो मामले की जानकारी निशांत गृह के इंचार्ज को दी।

फिर क्या था मामला गंभीर हो गया जिसकी भनक लगते ही मोहन वहां से फरार हो गया। वही इस मामले की जानकारी जब नजदीकी पुलिस को मिली तो मौके पर पहुंची पुलिस ने पीड़िता का मेडिकल चेकअप कराते हुए उसके बयान पर मामला दर्ज कर मोहन को जिले के एक होटल से गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तारी के बाद लक्खीसराय के सूर्यगढ़ा के अवगिल रामपुर निवासी आरोपी ने पीड़िता पर दोष मढ़ दिया। उसने कहा कि काम करने के दौरान जब उसे शौच लगा तो वह फर्स्ट फ्लोर पर टॉयलेट में चला गया इसी दौरान राधा भी उसी शौचालय में घुस गई और मेरे साथ जबरदस्ती करने लगी।

वही इस मामले में निशांत गृह की अधीक्षिका डेजी कुमारी का कहना है कि घटना को अंजाम देने के बाद जब पीड़िता ने अपने साथ हुए दुष्कर्म की बात बताई तो वहां रह रही कुछ महिलाओं ने भी यह बताया कि उन्होंने मोहन को ऊपर की बाथरूम में जाते हुए देखा था।

स्थानीय लोगों ने प्रशासन पर मामला दबाने का लगाया आरोप
निशांत गृह में हुई इस तरह की घटना के बारे में वहां के स्थानीय लोगों का कहना है कि प्रशासनिक अधिकारी और स्थानीय थाने की पुलिस मामले को दबाने की कोशिश कर रही है। राज्य सरकार ने राजधानी पटना के गाय घाट में असहाय और विक्षिप्त महिलाओं की मदद के लिए निशांत गृह की स्थापना की थी। इस निशांत गृह में ऐसी महिलाओं को रखने का आदेश किया गया था जो भूली भटकी या किसी कारण से दूसरे राज्य से बिहार आ गई हो। पर इन सरकारी निशांत गृह में अब महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं। पिछले वर्ष नवंबर में भी यहां एक लड़की ने थीनर पीकर आत्महत्या कर ली थी।

Read Also: अंधी लड़की को धोखे से ले गए चार युवक, फिर जो किया वो रुला देने वाला

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
A girl has been raped in govt rehab home for woman in Bihar. The accused is arrested by police.
Please Wait while comments are loading...