लालू-नीतीश के हाथों में हाथ डाल बिहार ने नशे को कहा ना, नीतीश ने कहा...

शराबबंदी अभियान के समर्थन के लिए आज बिहार में 11293 किलोमीटर लंबी मानव श्रृंखला बनाई गई। इसमें बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और राजद मुखिया लालू प्रसाद शामिल हुए।

By:
Subscribe to Oneindia Hindi

पटना(मुकुंद सिंह)। बिहार में शराबबंदी लालू करने के बाद आज विश्व की सबसे बड़ी मानव श्रंखला बनी, इसमें बिहार सरकार के ज्यादातर मंत्री शामिल हुए। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार नीतीश कुमार और पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रयाद यादव भी इस दौरान शामिल रहे।

बिहार में गूंजे, नशे को हाथ नहीं लगाएंगे के नारे

बिहार में गूंजे, नशे को हाथ नहीं लगाएंगे के नारे

मानव श्रृंखला के आयोजन में आज नशा मुक्ति के लिए लालू और नीतीश के हाथों में हाथ डाल कर बिहार के लाखों लोगों ने नशे को ना कहा। ये एक ऐतिहासिक नजारा बना गया, जब बिहार दुनिया की सबसे बड़ी मानव श्रंखला का गवाह बना। श्रंखला में मौजूद लोगों ने एक स्वर में कहा कि नशा को अब हाथ नहीं लगाएंगे तो बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपने इस मानव श्रृंखला के आयोजन पर यह कहा कि शराब पीने से सेहत खराब होती है। इसी शराब के खिलाफ आज हम लोग एक जुट होकर नशा को ना कहने के लिए यहां मानव श्रृंखला में शामिल होने आए हैं। आज का यह क्षण बिहार के लिए एक ऐतिहासिक क्षण होगा।

विपक्ष के लोग भी बने मानव श्रृंखला का हिस्सा

विपक्ष के लोग भी बने मानव श्रृंखला का हिस्सा

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के द्वारा लागू की गई पूर्ण शराबबंदी अभियान के समर्थन के लिए बिहार हमें अब तक की सबसे बड़ी मानव श्रृंखला बनाई गई है। राज्य सरकार का दावा है कि यह 11293 किलोमीटर लंबी मानव श्रृंखला है। इस श्रृंखला में शामिल होने के लिए बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ साथ राजद के सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव भी पटना के गांधी मैदान पहुंचे और शराबबंदी के खिलाफ लोगों को जागरुक करते हुए देश में एक नया मैसेज दिया। इस कार्यक्रम में राज्य की जनता के साथ साथ राजनीतिक पार्टी में जदयू, राजद, कांग्रेस, भाजपा और लोजपा के नेता तथा कार्यकर्ता भी शामिल हुए।

नीतीश कुमार ने किया उद्घाटन

नीतीश कुमार ने किया उद्घाटन

लाखों की संख्या में पटना के गांधी मैदान में हाथों से हाथ जोड़कर खड़े लोगों के बीच बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गुब्बारा उड़ाते हुए इस मानव श्रृंखला कार्यक्रम का उद्घाटन किया। नीतीश कुमार के गुब्बारा उड़ाते ही गांधी मैदान पर जय जय बिहार के नारे गूंज उठे। स्कूली बच्चों के साथ-साथ बड़े लोग भी इस कार्यक्रम को लेकर उत्साह में दिखे।

सुरक्षा के रहे पुख्ता इंतजाम

सुरक्षा के रहे पुख्ता इंतजाम

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के द्वारा आयोजित की गई मानव श्रृंखला के आयोजन के पीछे जनता को शराब बंदी और नशा बंदी के खिलाफ जागरुक करना ही मकसद है। इससे नशा बंदी के खिलाफ आयोजित मानव श्रृंखला आयोजन के जरिए पूरे विश्व में बिहार को मजबूत एकजुटता का संदेश देना। सुरक्षा के लिहाज से पांच सैटेलाइट, 38 ड्रोन और छह हेलिकॉप्टर राज्य के छह जिलों में तैनात किए गए हैं।

 हर जिलें में नेताओं ने थामा एक-दूसरे का हाथ

हर जिलें में नेताओं ने थामा एक-दूसरे का हाथ

बिहार के लगभग सभी जिले को लोग सड़क पर एक दूसरे का हाथ पकड़ कर खड़े नजर आए हैं। छात्रों और छात्राओं के हाथों में तख्तियां दिखीं, जिन पर नशाबंदी के हक में नारे लिखे गए थे। राजधानी पटना में लालू नीतीश के साथ-साथ बीजेपी के नेता भी हाथ पकड़ कर खड़े होते हुए शराबबंदी के पक्ष में आवाज बुलंद कर रहे हैं। इस मौके पर पूरे राज्य में सुरक्षा का पुख्ता इंतजाम किया गया है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
nitish kumar and lalu yadav forms massive human chain in support of total prohibition in Bihar
Please Wait while comments are loading...