नाबालिग की मदद के लिए गई महिला दरोगा को ही बना लिया बंधक

Subscribe to Oneindia Hindi

भोपाल। चंबल में किस कदर अपराधियों के हौसले बुलंद है उस बात का अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि अपहरणकर्ता महिला पुलिस को भी जबरन कार में घसीटने से नहीं डरते हैं।

kidnap

राज ठाकरे की पार्टी MNS पर भड़के काटजू, कहा- मैं इलाहाबादी गुंडा हूं और मेरा डंडा...

सब इंसपेक्टर रूबी तोमर जोकि मोरेना के सिविल लाइंस थाने में तैनात हैं, वह जब एसपी के ऑफिस से मंगलवार की शाम 5.30 बजे जब साधारण कपड़ों में वापस लौट रही थी तब अपराधियों ने इस घटना को अंजाम दिया।

डाक बंगला के पास जब रूबी ने यह देखा कि दो कार सवार ऑटो वाले से झगड़ा कर रहे हैं, तो वह ऑटो के पास पहुंची और उन्होंने कार के भीतर एक लड़की को देखा। जब उन्होंने लड़की के बारे में पूछताछ की तो दोनों आदमियों ने उन्हें भी कार के भीतर घसीट लिया।

थम्स-अप के विज्ञापन में नहीं दिखेंगे सलमान, कंपनी ने खत्म किया करार

तकरीबन 10 किलोमीटर तक जाने के जाने के बाद इन आदमियों ने जौरा के पास रूबी तोमर को कार से बाहर फेंक दिया। काफी देर तक रूबी ने इन आदमियों के साथ संघर्ष किया लेकिन इन अपराधियों ने उन्हें कार से बाहर फेंक दिया।

पाकिस्तान में 'हॉट चायवाला' के बाद अब 'चाइनीज ढोलवाली' की धूम

हालांकि पुलिस ने इन दोनों ही अपराधियों व ऑटो चालक को 15 मिनट के भीतर गिरफ्तार कर लिय। मोरेना के एसपी विनीत खन्ना ने बताया कि हमने सभी रास्तों को सील कर दिया था जिसके बाद दोनों ही अपराधियों को पकड़ लिया गया है।

वहीं नाबालिग लड़की जोकि कार में बंधक थी, उसे ग्वालियर के पास से बचाया गया है। लड़की के घरवाले उसे बुधवार को अपने घर ले गए। दोनों अपराधी जोकि नाबालिग लड़की को किडनैप करके ले जा रहे थे उनके नाम विवेक जदुआन व सज्जन सिंह भदौरिया है। दोनों पर ही अपहरण का मुकदमा दर्ज किया गया है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Women cop abducted who came for the rescue of minor girl. After 15 minutes accused were arrested in charge of kidnapping.
Please Wait while comments are loading...