भोपाल एनकाउंटर: सरकार ने पुलिसकर्मियों के ईनाम को अभी टाला

एनकाउंटर की न्यायिक जांच के आदेश के बाद सरकार ने पीछे खींचे हाथ।

By:
Subscribe to Oneindia Hindi

भोपाल।30-31 अक्टूबर की रात को भोपाल जेल से फरार सिमी के आतंकियों के एनकाउंटर की सत्यता पर लगातार उठ रहे हैं। ऐसे में इसको अंजाम देने वाले पुलिसकर्मियों को मिलने वाले ईनाम को मध्य प्रदेश सरकार ने अभी रोक दिया है।

bhopal

भोपाल एनकाउंटर मामले की न्यायिक जांच के आदेश

भोपाल जेल से फरार सिमी आतंकियों के एनकाउंटर में अहम रोल निभाने वाले पुलिसकर्मियों को दो-दो लाख रुपये का इनाम देने के अपने फैसले को मध्य प्रदेश सरकार ने फिलहाल टाल दिया है।

भोपाल एनकाउंटर का वीडियो वायरल, अधिकारी बोला- सब निपटा दो

इस पुरस्कार देने की घोषणा न्यायिक जांच घोषित होने से पहले की गई थी। अब जब मामले की न्यायिक जांच की घोणणा हो चुकी है तो सरकार ने ईनाम देने से हाथ पीछे खींच लिए हैं।

लगातार संदेह के घेरे में है भोपाल पुलिस का एनकाउंटर

आपको बतातें चलें कि 30-31 अक्टूबर की रात को भोपाल सेंट्रल जेल से सिमी के आठ आतंकी हेड कांस्टेबल रमाशंकर की हत्या कर फरार हो गए थे। इसके कुछ घंटों बाद ही भोपाल पुलिस ने शहर के पास ही एक मुठभेड़ में इन आठों को मार गिराने का दावा किया था।

भोपाल एनकाउंटर- चश्मदीद का दावा उसने कैदियों के पास नहीं देखा हथियार

इस पर मध्य प्रदेश सरकार ने जमकर अपनी पीठ ठोकी थी और एनकाउंटर को अंजाम देने वाला पुलिसकर्मियों को ईनाम की घोषणा की थी।

एनकाउंटर के बाद पुलिस अधिकारियों और नेताओं के बयान, कुछ वीडियो व जेल से आतंकियों के भागने की कहानी ने पूरे मामले को संदेह में ला दिया। जिसके बाद इसकी जांच की मांग कई संगठनों और विपक्षी पार्टियों ने की।

अब पूरे मामले की जांच और एनकाउंटर की सत्यता सामने आने के बाद ही पुलिस कर्मियों के दिए जाने वाले ईनाम पर फैसला किया जाएगा।

भोपाल जेलब्रेक व सिमी आतंकियों के एनकाउंटर मामले की जांच करने को NIA ने रखी शर्त

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
MP govt orders judicial probe, cash reward for cops on hold
Please Wait while comments are loading...