खेती के लिए पानी की कमी से परेशान किसान ने निकाली ऐसी तरकीब, आप भी कहेंगे वाह

Subscribe to Oneindia Hindi

बेंगलुरू। एक किसान ने पिछले साल अनानास की खेती की योजना बनाई। उन्होंने उडूपी से 18 किमी. दूर शिर्वा में इसके लिए खास फॉर्म शुरू किया। इसकी खेती के लिए पानी की आपूर्ति की समुचित व्यवस्था होनी जरूरी थी, जो उनके लिए बड़ी चुनौती थी। फिर उन्होंने क्या किया?

pineapple farm

रोनाल्ड डिसूजा ने अपनाई खास तकनीक

56 वर्षीय रोनाल्ड डिसूजा के मुताबिक उन्होंने जब अनानास की खेती की योजना बनाई तो उनके सामने पानी के साथ-साथ बिजली की अनियमितता भी अहम समस्या थी।

अखिलेश ने लॉन्च की मुफ्त स्मार्टफोन स्कीम, जानें कैसे और किसे मिलेगा?

इसका खामियाजा उन्हें खेती में उठाना पड़ रहा था। ऐसे में रोनॉल्ड डिसूजा को जीएसएम सिम आधारित सिंचाई सिस्टम का पता चला। उन्होंने इसे खेती के लिए बेहतर विकल्प के तौर पर लिया।

बैंगलोर मिरर में छपी खबर के मुताबिक रोनॉल्ड डिसूजा ने बताया कि मैंने अपनी खेती में सुधार के मद्देनजर एक बेहद साधारण मैकेनिज्म अपनाया।

रजिस्टर सिम से करना होता है काल

रोनाल्ड डिसूजा ने बताया कि एक मशीनरी के जरिए किसान अपनी सिंचाई की व्यवस्था को समुचित कर सकता है। इसके लिए बस एक जीएसएम सिम की जरूरत होती है। इस सिम के जरिए कॉल करके पानी की कमी को जरूरत के मुताबिक पूरा किया जा सकता है।

नौकरी का झांसा देकर डॉक्टर ने मरीज से किया रेप, गिरफ्तार

रोनॉल्ड डिसूजा के मुताबिक जीएसएम सिम पर आधारित ये सिस्टम रजिस्टर्ड सिम के जरिए संचालित होता है। इसमें एक मोबाइल नंबर के जरिए पानी के पंप को कंट्रोल किया जा सकता है।

इस सिस्टम के जरिए यूजर पंप शुरू करने के लिए बस एक फोन करने की जरूरत होती है। इतना ही नहीं अगर बिजली चली जाए तो इस सिस्टम के जरिए यूजर को मैसेज भी जाता है।

जीएसएम सिम तकनीक से पौधों को मिलने लगा पानी

रोनॉल्ड डिसूजा ने बताया कि इस पूरे मैकेनिज्म को संभालने के लिए उन्हें एक एसएमएस पैक की जरूरत होती है। इस प्रोग्राम में केवल एक ही मोबाइल नंबर रजिस्टर्ड होता है, जिसके जरिए ये कमांड लेता है।

शिव के डर से यहां दशहरे पर नहीं जलाया जाता रावण

रोनॉल्ड डिसूजा ने इस तकनीक के जरिए अनानास फार्म शुरू किया है, जिसका नाम उन्होंने रोनजस गार्डन रखा है। उन्होंने बताया कि अगर मैं फार्म में नहीं भी हूं तो भी मैं जीएसएम सिम तकनीक के जरिए सिंचाई की व्यवस्था को नियंत्रित कर सकता हूं।

अबू धाबी में 10 साल तक काम कर चुके हैं डिसूजा

बता दें कि डिसूजा इससे पहले अबू धाबी में काम कर चुके हैं। वहां उन्होंने 10 साल तक काम किया, फिर वित्तीय सलाहकार के तौर भारत लौट आए।

मुफ्त समाजवादी स्मार्टफोन पाने के लिए ध्यान रखें ये 14 बातें

उनके पास करीब 3.5 एकड़ खेत है जिस पर वो 40 हजार अनानास के पौधे लगाए हैं। उनकी पत्नी ब्यूटीशियन हैं, वो भी अपने पति के काम में सहयोग करती हैं। उनका सपना है कि वो आर्गेनिक खेती को बढ़ावा देते हुए एक आदर्श आर्गेनिक बाग शुरू करना चाहते हैं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
farmer only a phone call to the pump waters came his plants in Bengaluru.
Please Wait while comments are loading...