कावेरी विवाद: पानी को लेकर जल उठा बेंगलुरू देखिए तस्वीरें

By:
Subscribe to Oneindia Hindi

बैंगलुरू। कावेरी जल विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद कर्नाटक और तमिलनाडु के बीच विवाद बढ़ गया है। कर्नाटक की राजधानी बैंगलुरू में हालात बिगड़ गए हैं। बेंगलुरू में बिगड़ते हालत को देखते हुए प्रशासन ने शाम 5 बजे के बाद धारा 144 लागू करने का फैसला लिया है। बिगड़ते हालात को देखते हुए शहर में 15000 सुरक्षा जवानों को तैनात किया गया है।

दोनों राज्यों के कई इलाकों से हिंसा, आगजनी व तोड़फोड़ कती घटना हुई। विरोध प्रदर्शन को बढ़ते देख बेंगलुरु के स्कूलों को बंद कर दिया गया है। वहीं तमिलनाडु जाने वाली बसों में तोड़फोड़ की गई तो वहीं उधर से आने वाली बसों को शहर में घुसने से रोका गया। बढ़ते विरोध-प्रदर्शन को देखते बेंगलुरु की मेट्रो ट्रेन को अनिश्चितकालीन अवधि के लिए बंद कर दिया गया है। तस्वीरों में देखिए ताजा हालात...

उग्र हुआ प्रदर्शन

प्रदर्शन को देखते हुए शहर भर में क्विक रियेक्शन टीम, रैपिड एक्शन फोर्सेस टीम, सिटी आर्म्ड रिजर्व पुलिस, कर्नाटक स्टेट रिजर्व पुलिस को तैनात किया गया है। लोगों को घरों के अंदर रहने की सलाह दी जा रही है।

सड़कें सुनसान


प्रदर्शन को देखते हुए पुलिस ने उन इलाकों की सुरक्षा बढ़ा दी है, जहां तमिल निवासी रहते हैं। सरकार ने मामले की गंभीरता को देखते हुए 15,000 पुलिसकर्मियों को अलर्ट रहने को कहा है।

पानी ने लगाई आग


सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद कई जगहों पर आगजनी हुई। बेंगलुरु के ज्यादातर स्कूलों को बंद कर दिया गया है। बाजार खाली दिखें तो दुकाने बंद। शहर सुनसान दिखाई दिया। सड़कों से गाड़ियां गायब दिखी।

भड़की हिंसा

सुप्रीम कोर्ट ने अपने आदेश में कहा कि तमिलनाडु के लिए कर्नाटक कावेरी नदी से अब 15 हजार क्यूसेक की जगह 12 हजार क्यूसेक ही पानी छोडे। कोर्ट ने 20 सितंबर तक प्रतिदिन 12,000 क्यूसेक पानी जारी करने का आदेश दिया ताकि समीपवर्ती राज्य के किसानों की हालत में सुधार हो सके।

तमिलनाडु में भी हिंसा

तमिलनाड़ु में भी हिंसा के हालात बनें हुए है। वहां कर्नाटक के लोगों की संपत्ति को निशाना बनाया गया।  संदिग्ध तमिल समर्थक प्रदर्शनकारियों ने कर्नाटक के रहने वाले एक व्यक्ति के होटल पर हमला कर उसे क्षतिग्रस्त कर दिया।

स्कूल बंद

हिंसा को देखते हुए बैंगलुरू के स्कूलों को बंद कर दिया गया। लोग जल्दी दफ्तरों से निकल गए और सुरक्षित घर पहुंचने की कोशिश में जुट गए।

रामेश्वरम में बिगड़े हालत

रामेश्वरम में कर्नाटक के बसों को चला रहे ड्राइवरों के साथ मारपीट की गई। उन्हें राज्य की सीमा में घुसने की अनुमति नहीं दी गई।

गाड़ियों को फूंका

कर्नाटक नंबर  की गाड़ियों को निशाना बनाया गया। रामेश्वरम में कर्नाटक नंबर प्लेट वाली गाड़ियों में जमकर तोड़फोड़ की गई।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
In the Cauvery water dispute, massive protests and vandalism paralysed the IT hub of Bengaluru and parts of Mysuru on Monday as it emerged that Karnataka has to release more water to neighbour Tamil Nadu because of a modified Supreme Court order.
Please Wait while comments are loading...