अनुप्रिया पटेल की गठबंधन तोड़ने की धमकी, अब क्या करेगी भाजपा

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

इलाहाबाद। हमने तीन दिन पहले ही अपनी एक्सक्लूसिव खबर में बताया था कि इलाहाबाद की सोरांव विधानसभा सीट की रार गठबंधन को नुकसान पहुंचा सकती है। कमोबेश अब वही हो भी रहा है। अपना दल प्रत्याशी जमुना प्रसाद सरोज के विरुद्ध अघोषित भाजपा प्रत्याशी सुरेन्द्र चौधरी के नामांकन से अपना दल का दर्द छलक उठा है।

यूपी : अनुप्रिया की गठबंधन तोड़ने की धमकी, अब क्या करेगी भाजपा

अपना दल के प्रवक्ता बृजेन्द्र प्रताप ने पहले ही स्पष्ट कर दिया था कि अगर सोरांव में भाजपा ने फ्रेंडली फाइट की तो वह भी गौहनिया समेत अन्य सीटों पर अपने प्रत्याशी उतारेगी और फ्रेंडली फाइट करेगी। केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल ने अपना दल-भाजपा के गठबंधन पर आरपार की लड़ाई का फैसला किया है। जिससे न सिर्फ भाजपा के साथ अपना दल सोनेलाल का गठबंधन टूटेगा बल्कि दोनो दल एक दूसरे के विरुद्ध चुनाव लड़ेंगे।

केशव का संसदीय क्षेत्र वजह

यूपी बीजेपी के अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य के संसदीय क्षेत्र फूलपुर में सोरांव विधानसभा सीट आती है। केशव के चुनाव में सुरेंद्र ने जी जान से मेहनत की थी। अब अध्यक्ष बनने के बाद एहसान चुकाने की बारी केशव की थी तो उन्होंने आखिरी क्षणों में सीट पर बड़ा दांव खेला और सुरेन्द्र चौधरी का नामांकन करा दिया।

अनुप्रिया के खास जमुना

जमुना प्रसाद अनुप्रिया के पटेल की रैली कार्यक्रम में आयोजन व व्यवस्था में बड़ी भूमिका अदा करते आ रहे हैं। यहां तक कि मिर्जापुर की रैली में जमुना की उपस्थिति उनकी नजदीकी बढाती रही। अनुप्रिया पटेल ने विशेष तौर पर सोरांव सीट भी मांगी थी, जो मिलते ही जमुना को मिल गई। लेकिन अब क्या होगा यह तो नामांकन वापसी पर ही तय होगा।

14 सीटों पर है गठबंधन

इलाहाबाद की सोरांव, प्रतापपुर, हंडिया सीट भाजपा अद गठबंधन की सीट हैं। जबकि विश्वनाथगंज व प्रतापगढ सदर भी गठबंधन में अपना दल को मिली है। पूरे यूपी में 14 सीटों पर अनुप्रिया को अपने प्रत्याशी उतारने थे। लेकिन सोरांव से गठबंधन धर्म टूट रहा है।

समर्थन का पेंच

एक ओर भाजपा प्रत्याशी सुरेन्द्र ने दावा किया कि जमुना प्रसाद ने समर्थन कर दिया है। दूसरी ओर अपना दल ने सुरेन्द्र से समर्थन करने का दबाव बनाना शुरू कर दिया है। अद ने अल्टीमेटम दिया है कि अगर बीजेपी अपने उम्मीदवार का पर्चा वापस नहीं कराएगी तो अपना दल नामांकन के लिए बाकी बची सारी सीटों पर अपने उम्मीदवार खड़ा करेगी, जिसकी सारी जिम्मेदारी बीजेपी की होगी।

आज खुलेगा कार्यालय

सोरांव विधान सभा चुनाव के लिये आज (गुरूवार) केंद्रीय कार्यालय भी खोला जा रहा है। इलाहाबाद में भाजपा के एकलौते ब्लाक प्रमुख सुधीर मौर्य के नेतृत्व व समर्थन में सोरांव को ही कार्यालय के लिये चयनित किया गया है। माना जा रहा है कि भाजपाई इस सीट को गठबंधन में नहीं जाने देंगे और हिंदूवादी चेहरे को सामने रखकर वोट के लिये संघर्ष करेंगे। 

पढ़ें- यूपी: चुनाव से पहले प्रतापगढ़ में हार से बचा भाजपा-अद गठबंधन, पढ़िए क्या हुआ?

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
apna dal bjp alliance in trouble for up assembly election 2017
Please Wait while comments are loading...