गुजरात विधानसभा चुनाव से पहले शंकर सिंह वाघेला ने सोनिया से किया वादा तोड़ा

Subscribe to Oneindia Hindi

अहमदाबाद। भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की गुजरात इकाई में अलग-थलग पड़े नेता और पूर्व मुख्यमंत्री शंकर सिंह वाघेला ने शनिवार को कहा है कि पिछली विधानसभा चुनाव में उनकी कुप्रबंधन के कारण 28 सीटों की हार हुई।

वाघेला ने गांधीनगर में उनके समर्थकों को संबोधित करते हुए कहा, '2002 में, मैंने सोनिया गांधी से वादा किया था कि मैं हमेशा पार्टी के प्रति वफादार रहूंगा, लेकिन यह वादा अब खत्म हो गया है।' उन्होंने यह भी कहा कि राज्य 'चुनाव करीब आ रहे हैं लेकिन पार्टी में प्रमुख नियुक्तियां अभी भी लंबित हैं।'

गुजरात विधानसभा चुनाव से पहले शंकर सिंह वाघेला ने सोनिया से कहा वादा तोड़ा

ये भी पढ़ें: 15 कांग्रेस नेताओं की सुरक्षा में कटौती, जानिए लिस्‍ट में किसका-किसका है नाम

पार्टी के लोग कर रहे हैं बदनाम

उन्होंने कहा, 'पिछले एक साल से मैं लगातार आगामी पार्टी के नेताओं को आगामी चुनावों के लिए सही होमवर्क करने के लिए कह रहा हूं। लेकिन कांग्रेस ने सभी मौजूदा विधायकों के साथ चुनाव लड़ने का फैसला किया है। वाघेला ने कहा कि इसके अलावा, पार्टी के लोग मुझे बदनाम करने के लिए 'मुख्यमंत्री के लिए बापू' का पोस्टर लगा रहे हैं।

पूर्व गुजरात के मुख्यमंत्री भी मानते हैं कि इस बार, पाटीदार आंदोलन और अन्य कारकों के कारण, कांग्रेस पार्टी के लिए संभावनाएं उज्ज्वल हैं।

ये भी पढ़ें:पंजाब विधानसभा ने एक्साइज एक्ट में किया संशोधन, हाइवे के होटलों में भी मिलेगी शराब

मौका देना का दिया शुक्रिया

उन्होंने कांग्रेस के नेता अहमद पटेल और पूर्व प्रधान मंत्री नरसिंह राव को भी कांग्रेस के लिए काम करने का अवसर प्रदान करने का धन्यवाद किया।

20 जून को, वाघेला ने कहा था कि वह शीर्ष पद के लिए कोशिश नहीं कर रहे हैं और मैं नेतृत्व से नाखुश नहीं हूं। मैं केवल मांग करता हूं कि होमवर्क किया जाना चाहिए।

ये भी पढ़ें: हिमाचल में जेपी नड्डा की बढ़ती सक्रियता से क्यों खुश है कांग्रेस?

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Vaghela to SoniaI had promised my loyalty to the party, but that promise is over now:
Please Wait while comments are loading...