सूरत में व्यापारी के दफ्तर पर IT का छापा, करोड़ों का कैश और जमीन के कागजात बरामद

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। 8 नवंबर को नोटबंदी की घोषणा के बाद आयकर विभाग, प्रवर्तन निदेशालय (ED) और केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (CBI) देश के तमाम जगहों पर छापेमारी कर काले धन के कुबेरों का खुलासा कर रहे हैं।

2000

ताजा मामला, गुजरात के सूरत का है, जहां फाइनेंसर किशोर भजियावाला के परिसर में आयकर विभाग ने छापे मारी की। छापेमारी की कार्रवाई के दौरान विभाग को 400 करोड़ रुपए नकद, आभूषण और प्रॉपर्टी के कागजात बरामद हुए हैं।

नोटबंदी पर की मोदी की नकल, वेनेजुएला में मची लूटपाट-आगजनी

दो RBI के अधिकारी गिरफ्तार

इससे पहले कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरू में CBI ने भारतीय रिजर्व बैंक के दो अधिकारियों को गिरफ्तार किया है। उन पर आरोप है कि उन्होंने गैर कानूनी तरीके से कैश एक्सचेंज किया।

सूत्रों के अनुसार दोनों अफसरों ने 500 और 1,000 के विमुद्रीकृत किए करेंसी नोट को बड़ी मात्रा में नई करेंसी नोट से एक्सचेंज किया है।

वहीं  शनिवार को ही मुंबई में कार्यरत रेलवे के असिस्टेंट कमर्शियल मैनेजर को नोटों की अदला-बदली के आरोप में CBI ने नामजद किया है। आरोप है कि उसने 8.22 लाख रुपये के पुराने नोटों को 2000 रुपये के नए नोटों से बदला है।

कालाधन सफेद कर रहा था रेलवे अधिकारी, टिकट काउंटर से बदले 8.22 लाख रुपये

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Financer Kishore Bhajiawala's premises raided by IT. Assets worth Rs 400cr (appx) in cash, bullion,jewellery and property papers found
Please Wait while comments are loading...