भिवानी में खाप समेत कई संगठन भ्रूण हत्‍या के खिलाफ लामबंद

Subscribe to Oneindia Hindi

Khap Panchayat
भिवानी। बीबीपुर में महापंचायत ने कन्या भ्रूण हत्या के खिलाफ जो रोशनी दिखाई वह भिवानी जिले के लिए भी उजियारा लेकर आई है। यहां के खाप व सामाजिक संगठनों ने भी कन्या भ्रूण हत्या के खिलाफ आवाज बुलंद करनी शुरू कर दी है। बाढड़ा में 29 जुलाई को खाप 84 की बैठक बुला ली गई है, वहीं जिले के दूसरे क्षेत्रों में भी कन्या भ्रूण हत्या के खिलाफ पंचायतें आयोजित करने का सिलसिला शुरू होने जा रहा है।

सर्वजातीय श्योराण खाप 84 के प्रधान रामस्वरूप सिधनवा ने कहा कि कन्या भू्रणहत्या एक सामाजिक बुराई है तथा इसके खिलाफ समाज को एकजुट होना चाहिए। उन्होंने बीबीपुर में कन्या भ्रूण हत्या को लेकर हुई पंचायत का समर्थन करते हुए कहा कि वे भी इस विषय में खाप के सदस्यों से बातचीत कर बैठक करेंगे तथा इस बुराई के खिलाफ एकजुट होने का आहवान किया जाएगा।

चैहड़ सिंदौलिया खाप 84 के प्रधान अमरचंद शर्मा चैहड़ ने कहा कि कन्या भू्रणहत्या प्रगतिशील समाज पर कलंक है तथा यह अज्ञानता का पर्याय है। उन्होंने बताया कि सिंदौलिया खाप 84 के सदस्यों की आवश्यक बैठक आगामी 29 जुलाई को बाढड़ा में बुलाई गई है तथा बैठक में कन्या भ्रूण हत्या पर विशेष चर्चा होगी।

इस अपराध के लिए दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए तथा कन्या भू्रणहत्या के लिए बने कानूनों को कड़ा किया जाना चाहिए। अमरचंद शर्मा ने कहा कि वे 29 जुलाई की बैठक में अहम निर्णय लेंगे।

दोषियों पर चले हत्या का मुकदमा मानव निर्माण मिशन के अध्यक्ष व अन्ना एंटीक्रप्शन मिशन के अध्यक्ष प्रो अतर सिंह श्योराण ने कहा कि कन्या भ्रूण हत्या एक जघन्य अपराध है तथा इस अपराध के दोषी पर हत्या का मुकदमा चलना चाहिए। बढ़ता कन्या भ्रूण हत्या का अपराध मातृ शक्ति अस्तित्व को चुनौती है। प्रो अतर ने कहा कि सर्वजातीय श्योराण खाप चौरासी के सदस्य के नाते वह खाप के अध्यक्ष से अनुरोध कर बीबीपुर गांव की तर्ज पर महापंचायत बुलाने का अनुरोध करेंगे।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
After Baghpat in Uttar Pradesh, Khap Panchayat and many other organizations have now combined against female foeticide.
Please Wait while comments are loading...