विश्व कप के लिए हमारी तैयारी पूरी : कर्स्टन (लीड-3)

Subscribe to Oneindia Hindi

विश्व कप के तीसरे संस्करण के लिए वेस्टइंडीज रवाना होने से पहले पत्रकारों से मुखातिब कर्स्टन ने कहा, "हमारी तैयारी पूरी है। इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के माध्यम से हमने काफी अभ्यास किया है। सभी खिलाड़ियों को अपनी जिम्मेदारी के बारे में पता है। उम्मीद करता हूं कि सबकुछ तयशुदा रणनीति के मुताबिक होगा।"

टीम संयोजन के बारे में पूछे जाने हर कर्स्टन ने कहा कि पिच को देखकर ही इस संबंध में कोई भी फैसला लिया जा सकेगा। बकौल कर्स्टन, "टीम संयोजन मुख्य रूप से पिच पर निर्भर करेगा। कैरेबियाई पिच धीमी होती है और इस लिहाज से स्पिनरों को खिलाना उचित होगा।"

कोच के साथ मंच पर उपस्थित कप्तान महेंद्र सिंह धौनी ने कहा कि उनकी टीम में शामिल सभी खिलाड़ी फिट हैं। धौनी के मुताबिक यह अच्छी बात है कि तमाम व्यस्तताओं के बावजूद टीम में फिटनेस संबंधी कोई समस्या नहीं है।

धौनी ने कहा, "हमारे सभी खिलाड़ी फिट हैं। यह एक अच्छा संकेत है। पूरे सत्र में खेलते रहने के कारण हमारा अभ्यास भी अच्छा है। इससे हमें विश्व कप में काफी फायदा मिलेगा"

ट्वेंटी-20 मैच में एक ओवर में छह छक्के लगाने का अनोखा कीर्तिमान अपने नाम करने वाले युवराज सिंह के प्रदर्शन में हाल के दिनों में आई गिरावट भले ही क्रिकेट प्रशंसकों के लिए चिंता का विषय हो लेकिन धौनी को यकीन है कि युवराज का 'खामोश' बल्ला वेस्टइंडीज में अपना मुंह जरूर खोलेगा।

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में युवराज की नाकामी और उसके कारण टीम की रणनीति पर पड़ने वाले प्रभाव के बारे में पूछे जाने पर धौनी ने कहा कि युवराज का बल्ला रुका जरूर है, हमेशा के लिए खामोश नहीं हुआ है।

धौनी ने कहा, "युवराज एक महान खिलाड़ी हैं। उन्हें अगर ट्वेंटी-20 मैचों का सबसे खतरनाक बल्लेबाज कहा जाए तो गलत नहीं होगा। यह सच है कि आईपीएल में इस साल उनका बल्ला मन मुताबिक नहीं चल सका लेकिन मुझे यकीन है कि वह वेस्टइंडीज मे इस खामोशी को तोड़ने में सफल रहेंगे। इसके अलावा वह एक अच्छे पार्ट-टाइम गेंदबाज हैं और उन्होंने कई मौकों पर टीम के लिए उपयोगी गेंदबाजी की है।"

विश्व कप में अपनी टीम की जीत की संभावना के बारे में पूछे जाने पर धौनी ने कहा कि उनके साथी इस बार ट्वेंटी-20 विश्व कप खिताब लेकर स्वदेश लौटेंगे। धौनी ने कहा, "हमारी तैयारी अच्छी है। हम बिल्कुल फिट हैं और मैं दावे के साथ कह सकता हूं कि एक इकाई के तौर पर प्रदर्शन करने की स्थिति में हम विश्व कप लेकर स्वदेश लौटेंगे।

वर्ष 2007 में दक्षिण अफ्रीका में आयोजित प्रतियोगिता का पहला संस्करण जीतने वाली भारतीय टीम की पहली भिड़ंत एक मई को सेंट लूसिया के ग्रास इसलेट के बेसनजोर मैदान पर अफगानिस्तान के साथ है। भारत को ग्रुप-सी में रखा गया है।

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
Please Wait while comments are loading...