क्या आपकी कुंडली में है विदेश यात्रा करने के योग?

By: पं. अनुज के शुक्ला
Subscribe to Oneindia Hindi

लखनऊ। आज के आधुनिक दौर में लगभग हर नौजवान अपनी पढ़ाई पूरी करके विदेश जाने को लालायित रहता है। वहॉ का मोटा पैकेज, बेहतर जीवन शैली, सुनहरे भविष्य की उम्मीद सबको अपनी ओर आकर्षित करती है। क्या विदेश जाकर अच्छा धन कमाने की ख्वाहिस आपकी पूरी होगी ? ज्योतिष विज्ञान के द्वारा निर्मित कुण्डली के द्वारा यह जाना जा सकता है कि आप विदेश यात्रा कर पायेंगे या नहीं।

क्या आपकी कुंडली में है विदेश यात्रा करने के योग?
1-यदि आपकी पत्री में दूसरे भाव का मालिक 12वें घर में स्थिति है या 12वें भाव से किसी प्रकार का मजबूत सम्बन्ध है तो आप विदेश जाकर अपनी प्रतिभा का हुनर दिखाने में कामयाब हो पायेंगे।

2-अगर तीसरे भाव का स्वामी 12वें भाव में है और पॉचवें स्थान का मालिक यानि पंचमेश भी 12वें स्थान हो आप विदेश यात्रा करेंगे।

3-पंचम भाव में तृतीयेश अथवा द्वादशेश बैठा एंव 12वें भाव में पंचमेश बैठा हो तो विदेश जाकर अच्छा धन कमाने के योग है।

4-नवम स्थान का मालिक पत्री में 12वें घर में हो और शुभ ग्रह नवम को देख रहे हो तो जातक के करियर की विदेश में अच्दी ग्रोथ होती है।

5-चौथे अथवा द्वादश भाव में चर राशि हो एंव चन्द्रमा से दशवें घर सूर्य एंव शनि की युति हो तो विदेश में अच्छा धन कमाने के अवसर मिलते है।

6-मेष, सिंह, वृश्चिक, मकर एंव कुम्भ राशि में होकर दूसरे घर में शुक्र हो एंव 12वें घर के स्वामी की शुक्र के साथ युति हो अथवा किसी भी प्रकार का भी दृष्टि सम्बन्ध हो। ऐसा योग होने से जातक को विदेश जाने का अवसर मिलता है।

7-भाग्येश पंचमेश व द्वादशेश का किसी भी प्रकार से अगर अच्छा सम्बन्ध है तो भी विदेश जाने के योग होते है।

नोट-उपरोक्त बताये गये योग पूर्ण फल तभी दे पायेंगे जब ये किसी पाप ग्रह के द्वारा खंडित न हो।

इसे भी पढ़े : सितारों के हिसाब से जानिए कब करें गर्भ धारण?

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
When Sun is in the ascendant the native gets the opportunity to travel abroad.When Mercury is in the eighth house of the birth horoscope.
Please Wait while comments are loading...