सूर्य का वृश्चिक राशि में गोचर, जानिए क्या होगा असर?

Written by: पं. अनुज के शुक्ल
Subscribe to Oneindia Hindi

लखनऊ। प्रकृति का संरक्षक एंव पूरी सृष्टि को अपनी उर्जा से लबरेज करने वाला सूर्यआत्मा है सूर्य जीवन है और सूर्य से ही वैभव है। 16 नवम्बर से सुबह 6 बजकर 17 मिनट पर अपनी नीच राशि तुला से निकलकर मंगल की राशि वृश्चिक में सूर्य गोचर करना प्रारम्भ कर चुका है। सूर्य राजा और मंगल सेनापति है।

जानिए आपकी राशि क्या कहती है ब्रेक-अप के बारे में?

अब सूर्य ने सेनापित मंगल की राशि वृश्चिक में गोचर करना प्रारम्भ कर दिया है। जिसके फलस्वरूप देश का राजा और ताकतवार बनकर उभरेगा। नई-नई योजनाओं पर कठोर निर्णय लेने के लिए प्रतिबद्ध होगा। देश के आन्तरिक मामलों में सेनापति मंगल की अहम भूमिका रहेगी। पड़ोसियों देशों से इस समय भारत को विशेष सावधान रहने की जरूरत है। खासकर 30 नवम्बर तक भारत को अपनी आन्तरिक सुरक्षा पर बेहद चौकन्ना व सर्तक रहना होगा।

'C' अक्षर वाले होते हैं हर दिल अजीज

  • मेष-सूर्य के अष्टम भाव में रहने से कुछ लोगों के गुप्त सम्बन्धों का खुलासा हो सकता है। गूढ़ विषयों के अध्ययन की ओर मन अग्रसर होगा। साहस एंव पराक्रम में कमी आयेगी जिससे आत्म-विश्वास डाउन होगा। राय-मशविरा लेकर ही काम करें तो अच्छा होगा।
  • वृष-सप्तम का सूर्य कुछ लोंगो के दाम्प्त्य जीवन में खलल पैदा होने की आशंका है जिससे परिवार में कलह की स्थिति उत्पन्न हो सकती है। समय का दुरूप्रयोग करने से बचना होगा। वाणी में नियन्त्रण रखना आवश्य है। मित्रों से मधुर सम्बन्ध रखें। 
  • मिथुन- छठें में सूर्य रहने से रोग हवी हो सकता है एंव बेवहज के कार्यो की वजह से मन में चिड़चिड़ापन बना रहेगा। कार्य योजनाओं में बाधॉयें आयेगी। परिवार की किचकिच से कंही दूर जाने का मन होगा। किताबी कीड़ा न बनकर व्यवहारिकता पर भी बल देने की जरूरत है।
  • कर्क- आपके पंचम भाव का सूर्य मानसिक उर्जा में वृद्धि करायेगा एंव पराक्रम व साहस में वृद्धि होगी। रोजगार में प्रगति होगी। धन का लाभ होगा जिससे परिवार का महौल सुखद होगा। भाई पक्ष से सहयोग की उम्मीद की जा सकती है। विद्यार्थियों को साक्षात्कार में सफलता मिलेगी।
  • सिंह-चौथे भाव में सूर्य के गोचर करने से वाहन, मकान आदि पर अनवाश्यक खर्च हो सकता है। अतः इन पर नियन्त्रण करना आवयश्यक होगा अन्यथा बजट गड़बड़ा सकता है। सोंची समझी रणनीति के तहत किये गये कार्यो में प्रगति होगी। अचानक यात्रा करनी पड़ सकती है।
  • कन्या- तृतीय भाव का सूर्य कुछ लोगों के पराक्रम व आत्मबल में वृद्धि करायेगा साथ में ही नयें मित्र बनेंगे। रोजी व रोजगार से सम्बन्धित कार्यो में कुछ बाधायें आने की आशंका है। आर्थिक स्थितियों में पहले की अपेक्षा कमी आयेगी। वाणी पर नियन्त्रण बनायें रखें।
  • तुला-दूसरे स्थान का सूर्य परिवार की सामूहिक प्रगति होने के आसार नजर आ रहे है। कुछ लोगों के सम्बन्ध विच्छेद हो सकते है। आय व व्यय में समानता का माहौल बना रहेगा। मानसिक स्थितियों में असमानता बनी रहेगी। 
  • वृश्चिक-प्रथम खाने का सूर्य आर्थिक समस्याओं का निदान होगा और साथ में कैरियर में स्थिरता आयेगी। व्यवसाय में उपभोक्ताओं की वुद्धि होगी। नयें सम्बन्धों का लाभ मिलेगा। घर-गृहस्थी में सुखद वातावरण बने रहने के आसार नजर है।
  • धनु- 12वें स्थान का सूर्य कुछ लोगों को नींद न आने की समस्या पैदा कर सकता है। ऑखो की विशेष देखभाल करने की जरूरत है। धन की आर्थिक स्थिति में मजबूती आयेगी। व्यवसायिक गतिविधियों में प्रगति होने के आसार है। जीवन साथी के साथ मधुरतम पल व्यतीत होंगे। विद्यार्थियों के लिए समय उत्तम रहेगा।
  • मकर-11वें भाव में सूर्य के रहने से सामाजिक क्रिया-कलापों में धन का अपव्यय हो सकता है। नौकरी आदि में बॉस से टकराव की स्थितियॉ उत्पन्न हो सकती है। नयें सम्बन्धों को सोंच-समझकर ही मजबूत बनायें। वाहन प्रयोग में सावधानी बरतें।
  • कुम्भ-दशम भाव में सूर्य के गोचर करने से पद, प्रतिष्ठा का लाभ होगा एंव सामाजिक कार्यो से फायदा होगा। नयें लोगों की कार्य जीविका में प्रगति होगी। कुछ ऐसा होगा जिससे मन प्रसन्नचित्त रहेगा। वृद्ध लोगों को इस चिन्तन करने की जरूरत है।
  • मीन-भाग्य भाव में सूर्य रहने से कैरियर में प्रगति होगी एंव पिता से मधुर सम्बन्ध बनेंगे। विदेश जाने के इच्छुक व्यक्तियों के लिए यह समय अच्छा रहेगा। भाग्य पक्ष में मजबूती आयेगी जिससे रूके हूये कार्यो में प्रगति होगी। शोध छात्रों के लिए समय अनुकूल रहेगा।
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Sun in Scorpio zodiac, here is effects of life.
Please Wait while comments are loading...