सातमुखी रूद्राक्ष- क्यों है इतना असरकारी?

By: पं. अनुज के शु्क्ल
Subscribe to Oneindia Hindi

लखनऊ। रूद्राक्ष तो अपने आपमें ही देवों के देव महादेव का साक्षात प्रतीक है। हर सुख व समृद्धि प्रदान करने वाला होता है। हर मुखी रूद्राक्ष का अलग-अलग महत्व है।

Birthday Special: 'नज़फ़गढ़ के नवाब' या 'मुल्तान के सुल्तान' क्या हैं सहवाग?

आइये आज हम आपकों बताते है कि सात मुखी रूद्राक्ष धारण करने से क्या लाभ मिलता है

  • सातमुखी रुद्राक्ष पहनने से प्रत्येक क्षेत्र में विजय प्राप्त होती है तथा यश व कीर्ति में वृद्धि होती है।
  • सातमुखी रुद्राक्ष धारण करने से आर्थिक स्थिति में मजबूती आती है, एवं मन शान्त रहता है।
  • व्यवसायी वर्ग के लिए सप्तमुखी रुद्राक्ष धारण करना अत्यन्त लाभकारी सिद्ध होता है।
  • सातमुखी रुद्राक्ष पहनने से गणेश व लक्ष्मी जी की विशेष कृपा बनी रहती है, जिसके कारण घर व परिवार में सुख व समृद्धि बनी रहती है।
  • नौकरी वाले जातक यदि सातमुखी रुद्राक्ष धारण करते है, तो उनके कैरियर में प्रगति होती है तथा उनका बॉस काफी प्रभावित रहता है।
  • स्नायु तन्त्र से सम्बन्धित रोगों में सातमुखी रुद्राक्ष धारण करने से लाभ मिलता है।
  • सातमुखी रुद्राक्ष को पहनने से शनि ग्रह से सम्बन्धित दोषों जैसे साढ़ेसाती, ढैय्या आदि का शमन होता है।
  • बीवी को बिना मेकअप देख पति के उड़े होश, दिया तलाक

धारण विधिः- किसी भी मास की शुक्ल पक्ष की त्रयोदशी से पूर्णिमा तक तीनों दिन गंगाजल में केसर दूध मिलाकर निम्न मन्त्र से- 'ऊँ ऐं हीं श्री क्लीं हूं सौः जगत्प्रसूतये नमः'' से सातमुखी रुद्राक्ष पर जल छिड़के। इसके बाद गंध अक्षत, दूर्वा, पुष्प, बेल-पत्र, धतूरा चढ़ाकर विधिवत् पूजन करें। तत्पश्चात् निम्न मन्त्र से ''ऊँ ऐं हीं श्रीं क्लीं हूं सौः जगत्प्रसूयते'' से 108 बार हवन करना चाहिए। और 7 बार हवन-अग्नि की परिक्रमा करके सातमुखी रुद्राक्ष को गले या भुजा में धारण करें।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
A Seven mukhi Rudraksha has seven lines ( mukhas ) on its surface. The ruling deity of seven Mukhi Rudraksha is Goddess Maha Lakshmi (Goddess of wealth) and the ruling planet is Saturn.
Please Wait while comments are loading...