भाग्यांक 1 वाले होते हैं जिम्मेदार

Written by: ज्योतिषाचार्य पं अनुज के शुक्ल
 
Share this on your social network:
   Facebook Twitter Google+    Comments Mail

भाग्यांक द्वारा जानें अपना व्यवसाय व कैरियर- अंक ज्योतिष में भाग्यांक को बहुत ही महत्वपूर्ण माना जाता है। भाग्यांक का अर्थ है। आपके जीवन का वह महत्वपूर्ण अंक जिसके द्वारा आप-अपना व्यवसाय व कैरियर निर्धारित कर सके। अब सवाल यह आता है कि भाग्यांक जाना कैसे जाय?

भाग्यांक जानने के लिये, जन्म तिथि, जन्म मास और जन्म वर्ष की आवश्यकता होती है।

उदाहरणः माना किसी जातक का जन्म 26 नवम्बर 1980 को है, तो उस जातक का भाग्यांक निम्नलिखित तरीके से निकाला जा सकता है।
जन्म तारीख, जन्म मास और जन्म वर्ष= भाग्यांक
जन्म तारीख, 26=2+6=8
जन्म मास, 11=1+1=2
जन्म वर्ष, 1980=1+9+8+0=18=1+8=9
तो इस प्रकार इस जातक का भाग्यांक=
8+2+9=19=1+9=10=1+0=1

भाग्यांक=1

भाग्यांक 1: यदि आपका भाग्यांक 1 है तो, इसका मतलब आप सूर्य ग्रह से प्रभावित है। आप-अपने परिवार के कर्ता-धर्ता होंगे तथा सभी जिम्मेदारियां आपको ही निभानी पड़ेगी। आपको जीवन में कभी-कभी बहुत लाभ भी हो सकता है तथा अचानक हानि होने की भी सम्भावना रहती है। धन की बचत करने में आप सफल रहेंगे। आपको अनेक प्रकार से धन कमाने के अवसर प्राप्त होंगे। भाग्यांक 1 वाले व्यक्तियों को एक बात अवश्य ध्यान रखनी चाहिए कि कोई भी कार्य प्रेम-पूर्वक करें। आदेशात्मक प्रवृत्ति से किया गया कार्य बिगड़ सकता है। यदि आप व्यवसाय करना चाहते है तो साझेदारी कदापि न करें अन्यथा बाद में पछताना पड़ सकता है।

कैरियर- राजनीति, चिकित्सा क्षेत्र, सैन्य विभाग, हडडी रोग के डाक्टर, प्रशासनिक सेवा, विदुत विभाग, होटल मैनेजमेन्ट, रेलवे विभाग, डाक विभाग आदि क्षेत्रों में आप-अपना कैरियर बना सकते है।

व्यवसाय- आभूषण खरीदना-बेचना, रत्न बेचना, विदुत उपकरण, मेडिकल स्टोर, जनरल स्टोर, कपड़े का कार्य, वाहनों का क्रय-विक्रय, पुस्तक भण्डार, अनाजों का खरीदना-बेचना आदि प्रकार के व्यवसाय आपके लिये अनुकून साबित होंगे।

भाग्यशाली वर्ष- आपके जीवन में जब-जब दो, एक, और चार के अंको का योग आयेगा या फिर ये अंक आमने-सामने आयेंगे तो वह वर्ष आपके लिये अनुकूल साबित होंगे। जैसे- 19वां, 20वां, 22वां,24वां,31वां, 37वां, 40वां, 44वां, 46वां वर्ष आदि आपके लिये परिवर्तन कारी रहेंगे।

अनुकूल नगर- दिल्ली, सूरत, बम्बई, कलकत्ता, उदयपुर, जयपुर, जयपुर, अजमेर, गोवाहाटी, ग्वालियर, कोल्हापुर और गाजियाबाद नगर आपके लिये शुभ रहेंगे।

अनुकूल राष्ट्र- भारत, वर्मा, अरब, शिकागो, हांगकांग, इग्लैण्ड,नीदरलैण्ड, नाइजीरिया और नेपाल देश आपके लिये लाभकारी रहेंगे।

घर का मुख्य द्वार-
भाग्यांक 1 वाले जातक यदि अपने घर का मुख्य द्वार पूर्व, पूर्व-उत्तर,( ईशान कोण ) या फिर उत्तर दिशा में रखें तो इनके परिवार में सुख शान्ति व आर्थिक समृद्धि बनी रहेगी।(कल पढ़े : भाग्यांक 2 के बारे में)

क्‍या है आपका भाग्‍यांक?
               

English summary
Numerology Name Numbers are very important in relationships with people. Your Birth Number affects your personality. For Example, 1 number is playing very importent role in Your Life.
Write a Comment