जानिए 12 ज्योतिर्लिंग के दर्शन कैसे करें?

बारह ज्योतिर्लिंगों के दर्शन करने मात्र से ही व्यक्ति का कल्याण हो जाता है। शिव सबका कल्याण ही करते है।

Written by: पं. अनुज के शुक्ल
Subscribe to Oneindia Hindi

लखनऊ। भगवान शंकर के 12 ज्योतिर्लिंग है। इन बारह ज्योतिर्लिंगों के दर्शन करने मात्र से ही व्यक्ति का कल्याण हो जाता है। शिव सबका कल्याण ही करते है। उनको चाहे जिस रूप में आप पूजों। पर क्या आप जानते है कि किस व्यक्ति को किस ज्योतिर्लिंग के दर्शन करने से विशेष लाभ होता है।

ऑस्ट्रेलिया के 6 खिलाड़ी आउट, छा गए अश्विन

आइये हम आपको बताते है राशि के अनुसार व्यक्ति को किस ज्योतिर्लिंग के दर्शन करने चाहिए।

मेष-सोमनाथ ज्योतिर्लिंग गुजरात में स्थिति है। इस राशि वाले अगर सोमनाथ ज्योतिर्लिंग के दर्शन करते है तो उनके सारे कष्ट दूरकर भगवान शिव खुशियों की झोली भर देंगे।
वृष-इस राशि वाले जातक मलिकार्जुन ज्योतिर्लिंग {आन्ध्र प्रदेश} के दर्शन व पूजन करके अपनी समस्याओं से मुक्ति पा सकेंगे।
मिथुन- मध्यप्रदेश में पड़ने वाले श्री महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग का सम्बन्ध मिथुन राशि से है। अतः इस राशि वाले लोग अपनी इच्छाओं की पूर्ति के लिए महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग के दर्शन करें।
कर्क-अगर आपकी राशि कर्क है तो अपनी मनोकामनाओं की पूर्ति के लिए भगवान शंकर के ओमकारेश्वर ज्योतिर्लिंग {मध्य प्रदेश} के दर्शन करें।
सिंह-वैद्यनाथधाम ज्योतिर्लिंग {झारखण्ड प्रदेश} के दर्शन करने मात्र से ही सिंह राशि के जातकों की समस्याओं का अन्त हो जाता है।
कन्या-इस राशि वाले जातक श्रीभीमशंकर ज्योतिर्लिंग {महाराष्ट्र} के दर्शन करके अधिक से अधिक लाभ प्राप्त कर सकते है।
तुला-रामेश्वर ज्योतिर्लिंग {तमिलनाडु प्रदेश} के दर्शन तुला राशि वालों के लिए बहुत ही फलदायी रहते है। भोले बाबा के दर्शन करने से सारे पाप नष्ट हो जाते है।
वृश्चिक-यदि आपकी राशि वृश्चिक है तो आप श्रीनागेश्वर ज्योतिर्लिंग {महाराष्ट्र} के दर्शन पूजन करें। यहॉ के दर्शन करने से आपकी मनोकामनायें पूर्ण होगी।
धनु- काशी विश्वनाथ ज्योतिर्लिंग {उत्तर प्रदेश} के दर्शन करने धनु राशि के जातकों के कष्टों का निवारण होता है।
मकर-अगर मकर राशि के जातक अपने जीवन के संघर्षो से परेशान है तो श्रीत्रयंबकेश्वर ज्योतिर्लिंग {महाराष्ट्र} के दर्शन करके बाबा से आशीर्वाद प्राप्त करें।
कुम्भ-बाबा केदारनाथ ज्योतिर्लिंग {उत्तराखण्ड प्रदेश} के दर्शन करने से कुम्भ राशि वाले लोगों के सारे पाप धुल जायेंगे और बाबा के सामने की गई प्रार्थनायें शीघ्र पूर्ण होती है।
मीन-इस राशि के जातकों को घूमेश्वर ज्योतिर्लिंग {महाराष्ट्र} का दर्शन व पूजन करने सुख-सौभाग्य में वृद्धि होती है एंव जीवन में प्रगति के मार्ग खुलते है।  read also :जानिए क्या कहती है आपकी भाग्य रेखा?

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
A Jyotirlinga is a devotional object representing the Supreme God Shiva. Jyoti means 'radiance' and lingam the 'Image or Sign' of Shiva; Jyotir Lingam thus means the The Radiant Sign of The Almighty Shiva.
Please Wait while comments are loading...