जानिए विवाहित महिलाओं के लिए मंगल-सूत्र क्यों है जरूरी?

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। अक्सर कहा जाता है कि कोई भी शादी बिना मंगलसूत्र के पूरी नहीं होती है इसलिए सुहागिनों के गले में मंगलसूत्र अक्सर नजर आता है जो कि उनके मैरड होने का सबूत भी है लेकिन क्या आपको पता है कि मंगलसूत्र केवल एक गहना या शादी का प्रमाणपत्र ही नहीं है बल्कि इसको पहनने के पीछे एक खास कारण भी है।

रंगों के आधार पर जानिए कौन है अच्छा और कौन है बुरा?

दरअसल महिलाओं के 16 श्रृंगार में मंगलसूत्र का नंबर 6 है। इसको पहनने से महिलाओं को शारीरिक रूप से काफी फायदा मिलता है। औरतों के कंधे और सिर के बीच का भाग अनेक प्रकार की नाड़ियों से घिरा होता है और गले में पड़ने वाला हार उन नाड़ियों की गति को व्यवस्थित करता है। शादी के बाद महिलाओं के कंधे के ऊपर जिम्मेदारियों का बोझ आ जाता है और उनकी नाड़ियों में तनाव रहने लगता है।

इन परंपराओं में छुपा है स्वस्थ, सुंदर और जवां दिखने का राज...

इसके अलावा वैज्ञानिक दृष्टिकोण की बात करें तो मंगलसूत्र सोने या चांदी का बना होता है, दोनों ही धातुएं महिलाओं के हृदय और वक्ष को स्वस्थ रखती हैं।यही नहीं इन धातुओं की वजह से महिलाओं के शरीर का रक्तचाप भी संतुलित रहता है।

जानिए दुनिया से जुड़ी कुछ अनोखी लेकिन खूबसूरत बातें

इसलिए ये प्रथा बना दी गई कि शादी-शुदा स्त्री गले में सूत्र जरूर हो और वो उसके लिए मंगलकारी भी हो इसलिए उसके नाम के आगे मंगल जोड़ दिया गया यानी कि मंगलसूत्र पहनने के बाद हर चीज मंगल ही मंगल हो जाती है, ये सुहाग का सूचक होता है।

वक्त के साथ मंगलसूत्र भी बदला

आज वक्त के साथ मंगलसूत्र भी बदल चुका है। मार्केट में एक से एक नायाब रूप में मंगलसूत्र मौजूद हैं जो देखने में काफी आकर्षक होते है। कोई भी स्त्री इस धागे से तभी अलग होती है जब उसका पति उसका साथ छोड़ कर चला जाता है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Gold has a ayurvedic properties, on wearing managalasutra, it helps us improve heart and helps in the improvement of healthy breast.
Please Wait while comments are loading...