आखिर क्यों रहते हैं पवनपुत्र हनुमान लाल-लाल?

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। पवनपुत्र हनुमान बेहद शक्तिशाली और रूद्र अवतार माने जाते हैं। हिंदुस्तान के हर कोने में बजरंगबली की पूजा होती है लेकिन क्या कभी आपने सोचा कि हनुमान जी के ऊपर सिंदूर का लेप क्यों लगाया जाता है या फिर वो हमेशा लाल-लाल या नारंगी रूप में ही दिखते हैं? तो चलिए आपको बताते हैं कि क्या है इसके पीछे का राज?

गुस्से में हनुमान की तस्वीर वायरल, गली-चौराहों पर हो रही है पूजा

दरअसल पौराणिक कथाओं के मुताबिक एक बार मां सीता को सिंदूर लगाते हुए राम भक्त हनुमान ने देख लिया था। उन्होंने सीता से इसको लगाने का कारण पूछा जिस पर मां सीता ने उत्तर दिया कि यह सिंदूर उनके भगवान यानी पति राम का प्यार और साथ का मानक है, भगवान राम हमेशा मेरे साथ रहें इसलिए मैं हमेशा अपनी मांग भरती हूं।

चंदा को 'मामा' ही क्‍यों कहते हैं, चाचा, ताऊ, फूफा... क्‍यों नहीं?

जिस पर हनुमान जी ने कहा आप चुटकी भर सिंदूर से प्रभु को अपना बना लेती हैं तो चलिए आज से मैं अपने पूरे शरीर में सिंदूर का लेप लगाऊंगा और तब से ही हनुमान जी लाल-लाल हो गए।

इन परंपराओं में छुपा है स्वस्थ, सुंदर और जवां दिखने का राज...

वैसे आपको बता दें कि लाल रंग प्रेम, शक्ति और ऊर्जा का प्रतीक है और ये तीनों गुण ही हनुमान जी में है। यही नहीं यह भी कहा जाता है कि मंगलवार को जन्में लोग गति प्रेमी होते हैं, लेकिन गति को शक्ति की दरकार होती है इस कारण हनुमान जी को लाल वस्त्र पहनाया जाता है।

महेश भट्ट: कभी बेटे राहुल भट्ट और हेडली की दोस्ती ने किया था बदनाम

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
One of the most important colors used to paint Hanuman murtis (idols), images and sculptures is red. The idols are painted red for the good of Sri Ram.
Please Wait while comments are loading...