शिव के 10 कल्याणकारी अवतार करेंगे आपका बेड़ा-पार

By: पं. अनुज के शुक्ल
Subscribe to Oneindia Hindi

लखनऊ। शिव सरल है, सुन्दर है, साधक है, सुगम है, सकारात्मक है और समृद्धिदायक है। शिव हम सबके पिता समान है और अपने पिता की आराधना करने के लिए किसी विशेष सामग्री की नहीं सिर्फ भाव की आवश्यकता है।

भगवान शिव को सावन पसन्द है आखिर ऐसा क्यों?

शिव के 10 कल्याणकारी अवतार करेंगे आपका बेड़ा-पार

शिव पिता के समान सबका पालन करते है और अत्याचार बढ़ जाने पर संहारक भी बन जाते है। शक्ति और साधना के प्रतीक शिव के 28 अवतारों का उल्लेख पुराणों में मिलता है, किन्तु उनमें से 10 अवतारों की प्रमुखता से चर्चा होती है।

Sawan को ये 5 महासंयोग बना रहें हैं खास, हर मनोकामनाएं होगी पूरी | Shravan Month | Lord Shiv Boldsky

जो निम्न प्रकार से है-

  • महाकाल- शिव का पहला अवतार महाकाल को माना जाता है। इस अवतार की शक्ति मॉ काली है। उज्जैन में महाकाल नाम से ज्योतिर्लिंग प्रसिद्ध है।
  • तारा- शिव का दूसरा अवतार तारा नाम से प्रसिद्ध है। इस अवतार शक्ति की तारा देवी मानी जाती है। यह स्थान पश्चिम बंगाल के बीरभूमि में द्वारिका नदी के पास महाशमशान में स्थित है।
  • बाल भुवनेश्वर- दस महाविद्या में से एक माता भुवनेश्वरी की शक्ति पीठ उत्तरांचल में स्थित है जो शिव के तीसरे अवतार के रूप में प्रसद्धि है।
  • शिव के 10 कल्याणकारी अवतार करेंगे आपका बेड़ा-पार
  • षोडश श्री विद्येश- दस महाविद्याओं में तीसरी महाविद्या भगवती षोडशी है, जो त्रिपुरा के उदयपुर के निकट राधाकिशोरपुर गॉव के माताबाढ़ी पर्वत शिखर पर माता का दॉया पैर गिरा था। यह स्थान शिव के चौथे अवतार के रूप में प्रसिद्ध है।
  • भैरव- शिव का पॉचवां रूद्रावतार भैरव सबसे अधिक विख्यात है। जिन्हे काल भैरव कहा जाता है। उज्जैन की शिप्रा नदी तट स्थित भैरव पर्वत पर मॉ भैरवी शक्ति के नाम से प्रचलित है। यहॉ पर मॉ के ओंठ गिरे थे।
  • छिन्नमस्तक- छिन्नमस्तिका मन्दिर तांत्रिक पीठ के नाम से विख्यात है। यह झारखण्ड की राजधानी रॉची से 75 किमी दूर रामगढ़ में स्थित है। रूद्र का छठा अवतार छिन्नमस्तक नाम से प्रसिद्ध है।
  • द्यूमवान- धूमावती मन्दिर मध्य प्रदेश के दतिया जिले में स्थित प्रसद्धि शक्ति पीठ पीताम्बरा पीठ के प्रागंण में स्थित है। पूरे भारत में धूमावती के नाम से एकमात्र मन्दिर है। यह शक्ति पीठ रूद्र के सातवें अवतार के रूप में प्रसद्धि है।
  • शिव के 10 कल्याणकारी अवतार करेंगे आपका बेड़ा-पार
  • बगलामुखी- दस महाविद्याओं में से बगलामुखी के तीन प्रसिद्ध शक्ति पीठ है। 1- हिमाचल में कांगड़ा में बगलामुखी मन्दिर। 2- मध्यप्रदेश के दतिया जिले में बगलामुखी मन्दिर। 3- मध्य प्रदेश के शाजापुर में स्थित बगलामुखी मन्दिर। शिव का आठवा रूद्र अवतार बगलामुख नाम से प्रचलित है।
  • मातंग- शिव के नौंवे अवतार के रूप में मातंग प्रसिद्ध है। मातंगी देवी अर्थात राजमाता दस महाविद्याओं के देवी है और मोहकपुर की मुख्य अधिष्ठा है।
  • कमल- शिव का दसवां अवतार कमल नाम से प्रसद्धि है। इस अवतार की शक्ति मॉ कमला देवी है।
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Lord Shiva is an abstract or aniconic representation of the Hindu deity, Shiva, used for worship in temples, smaller shrines, or as self-manifested natural objects.
Please Wait while comments are loading...