शुक्रवार मतलब मां 'लक्ष्मी' का दिन, जानिए खास बातें

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। आज शुक्रवार है जिसे मां लक्ष्मी का दिन कहा जाता है। मां लक्ष्मी की पूजा हर कोई करता है क्योंकि उनके बिना जीवन की नैया पार नहीं हो सकती है।

जानिए विवाहित महिलाओं के लिए मंगल-सूत्र क्यों है जरूरी?

लक्ष्मी मां को धन की देवी कहते हैं और बिना धन के कुछ भी संभव नहीं है, इसी कारण लोग तरह-तरह की पूजा करके मां को प्रसन्न करने में लगे रहते हैं ताकि उन पर माता की कृपा बनी रहे और उन्हें धन की कमी ना हो।

आखिर क्यों रहते हैं पवनपुत्र हनुमान लाल-लाल?

आईये जानते हैं मां लक्ष्मी के बारे में कुछ खास बातें...

  • मां लक्ष्मी भगवान विष्णु की पत्नी हैं और धन, सम्पदा, शान्ति और समृद्धि की देवी मानी जाती हैं।
  • आम तौर पर 'लक्ष्मी' शब्द सम्पत्ति के लिए प्रयोग होता है लेकिन दरअसल ये चेतना का एक गुण है जिसके चलते बेकार की वस्तुओं को भी काम की वस्तु बनाया जाता है।
  • लक्ष्मी का अभिषेक दो हाथी करते हैं। वह कमल के आसन पर विराजमान है। कमल कोमलता का प्रतीक है। 
  • लक्ष्मी के एक मुख, चार हाथ हैं। वे एक लक्ष्य और चार प्रकृतियों (दूरदर्शिता, दृढ़ संकल्प, श्रमशीलता और व्यवस्था ) के प्रतीक हैं। 
  • मां लक्ष्मी की उत्पत्ति समुद्र मंथन से हुई थी और वो स्वयं भगवान विष्णु के चरणों में चली गई थीं इसलिए कहा जाता है कि लक्ष्मी ने भगवान विष्णु का वरण किया था।
  • मां लक्ष्मी का वाहन उल्लू है, जो कि मूर्खता का परिचायक है इसलिए कहा जाता है कि अगर इंसान के पास धन है लेकिन अक्ल नहीं तो वो उल्लू बन जाता है।
  • इसलिए मां लक्ष्मी की पूजा जब भी होती है तो उनके साथ बुद्दि के देव श्रीगणेश जी हमेशा साथ होते हैं जिससे इंसान के पास धन भी आये और बुद्दि भी।
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Friday is the day of Maa Lakshmi. Maa Lakshmi is believed to be the presiding deity of money and wealth. here is the ways To Attract Goddess Lakshmi On A Friday.
Please Wait while comments are loading...